अतिप्राचीनतम हिन्दू धर्म -क्या सच में ‘कालचक्र’ से परे है यह धर्म , जाने क्या कहते हैं ‘वेद’ और शिलापट्ट

0
153

हिन्दू धर्म की उत्पत्ति कब हुई इस बात की पूर्णतया जानकारी किसी को नहीं हैं | मान्यता के अनुसार हिन्दू या सनातन धर्म 4000 साल से भी पुराना माना जाता है। प्रचलित मान्यताओं के अनुसार हिन्दू धर्म प्राचीन आर्य समाज के वेदों पर चलता हुआ विकसित हुआ है। ये भी कहा जाता रहा हैं की इस धर्म को किसी व्यक्ति ने नहीं बल्कि समय ने बनाया और कालचक्र के अनुसार इसका प्रसार भी स्वत: हुआ। हिन्दू धर्म की मान्यताओं के अनुसार ये भी कहा जाता है कि वेदों का अनुसरण करते हुए आर्यों ने ही हिन्दू धर्म को उसकी पहचान दिलाई। हिन्दू धर्म के पुरातन लेखों यह जाहिर होता है कि हिन्दू धर्म बेहद विकसित और समृद्ध था। इसी तरह सिंधु घाटी सभ्यता और अन्य कई पुरातन अध्ययनों से भी समय समय पर यही जाहिर हुआ है कि हिन्दू धर्म का उदय बेहद प्राचीन रहा है। वेदों के अस्तित्व को पूरे विश्व में मान्यता प्राप्त हैं। वेदों में सबसे प्राचीन “ऋग्वेद” को माना गया है। कई जानकार मानते हैं कि वेदों में लिखे नियमों और बातों का अनुसरन करके ही हिन्दू धर्म ने अपने नियम और मानदंड स्थापित किए हैं।  यह भी मान्यता है कि प्राचीन हिन्दू धर्म की मुख्य भाषा संस्कृत थी।