जब ‘भारतरत्न’ बाजपेयी जी ने नेहरू जी को कहा..आप शीर्षासन करें.. लेकिन मेरी पार्टी की तस्वीर उल्टी न देखें..

0
65

भारत के पूर्व प्रधानमन्त्री ‘भारतरत्न’ अटल बिहारी बाजपेयी जी का गुरूवार को 93 वर्ष की उम्र में निधन हो गया। वे पिछले कई दिनों से अस्पताल में भर्ती थे | उनके निधन से देश भर में राजनितिक पार्टियों समेत आम जन में भी शोक की लहर दौड़ गयी | पूर्व प्रधानमंत्री जी के बारे में कहा जाता रहा है की उनका जीवन एक खुली किताब की तरह रहा हैं | तभी तो ‘भारतरत्न’ से सम्मानित इस ‘अजातशत्रु’ की कई यादगार बातें हैं जो इनके महान व्यक्तित्व को दर्शाती हैं | अटल जी के मातृभाषा हिंदी में दिए गए धाराप्रवाह भाषणों से पंडित जवाहरलाल नेहरू इतने अभिभूत होते थे कि वे उनके सवालों के जवाब हिंदी में ही देते थे। एक बार सदन में पंडित जी की जनसंघ पर आलोचनात्मक टिप्पणी सुनते ही अटल जी ने प्रत्युत्तर में कहा, ‘मैं जानता हूं कि पंडित जी रोजाना शीर्षासन करते हैं। वे शीर्षासन करें। मुझे कोई आपत्ति नहीं, लेकिन मेरी पार्टी की तस्वीर उल्टी न देखें। यह सुनना था कि पंडित नेहरू सदन में ठहाका मारकर हंसने लगे। नेहरू के संबोधन ज्‍यादातर अंग्रेजी में होते थे।