ईसाई धर्म अपनाए हिंदूओ ने पुनः अपने धर्म में की वापसी

0
13

आर्य समाज सदैव इसाईकरण व् धर्मांतरण के विरोध में संघर्षरत रहा है। डॉ0धीरज प्रधान आर्य प्रतिनिधि सभा उ0प्र0।केराकत।आर्य प्रतिनिधि सभा उ0 प्र0 के प्रधान डॉ0 धीरज,लखनऊ से आर्य प्रतिनिधि सभा के प्रतिनिधि मंडल के साथ केराकत तहसील के ग्राम नारायनपुर,अर्खर्ईपुर ,विशुनपुर में ईसाई मिशनरियों के बहकावे में आकर लोगों ने धर्म परिवर्तन कर लिया था । जिसके बाद आर्य समाज के लोगों के द्वारा समझाया बझाया गया जिसके बाद उन लोगो ने पुनः अपना लिया वैदिक रीति-रिवाज के साथ ।
आर्य समाज सदैव धर्मान्तरण व् ईसाईकरण के विरोध में संघर्ष रत रहा है।उन्होंनेे केराकत तहसील क्षेत्र के ग्रामो में हो रहे इसाईकरण के खिलाफ आर्य प्रतिनिधि सभा उ0प्र0 का प्रतिनिधि मंडल चल दिया है। उन्होंने कहा कि आर्य समाज के माध्यम से धर्मान्तरित लोगो को आर्य सभा मे जोड़ा जा रहा है ।
आर्य समाज के संस्थापक स्वामी दयानंद सरस्वती सदैव धर्मांतरण के विरुद्ध अन्तिम क्षण तक संघर्ष रत रहे।आर्य प्रतिनिधि सभा उ0प्र0 का प्रतिनिधि मंडल केराकत तहसील क्षेत्र के ग्राम नारायनपुर,अखईपुर ,विशुनपुर , में जो लोग ईसाई धर्म अपना लिए थे उनके घरों पर जाकर हवन कर शुद्धीकरण कर वापस हिंदू धर्म में लाया गया । प्रतिनिधि मंडल में आचार्य धर्मवीर,महा मंत्री आर्यवीर ,दल महाशय कल्याण आर्य,भजनोपदेशक आचार्य देवब्रत आर्य,बेद प्रचारक आचार्य कुलदीप विद्यार्थी ,पुस्तकाध्यक्ष रमाशंकर आर्य आदि लोग साथ थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here